सड़क कितनी भी साफ हो “धूल” तो हो ही जाती है, इंसान कितना भी अच्छा हो “भूल” तो हो ही जाती है।

सड़क कितनी भी साफ हो “धूल” तो हो ही जाती है, इंसान कितना भी अच्छा हो “भूल” तो हो ही जाती है।